• Identifying the rights of migrants and their families
  • Building capacities to effectively manage SHGs
  • Facilitating effective participation in Gram Sabhas
  • Realising the right to employment at minimum wages
  • Raising awareness about sanitation in day to day behavior

Latest Blog

गांधी जी ने कहा था – ‘‘स्वच्छता स्वतन्त्रता से भी अधिक आवष्यक है’’

21 वी सदी का पहला दशक अपने अन्तिम पडाव पर है, सारी दुनिया मे तकनीकी का बोलबाला है तकनीक के कारण यह कहा जा रहा है कि पूरी दुनिया एक गावं मे बदल चुकी है। विश्व मे मानव अधिकारो की हर जगह चर्चा हो रही है। मानवीय गरिमा के साथ जीना हर मानव का अधिकार है, ऐसे समय मे भारत मे मैला प्रथा का जारी रहना देश की सभ्यता व तरक्की पर एक बदनुमा दाग की तरह है। -

Latest News

सरपंच लखनलाल ने किए विषेष प्रयास। 299 घरों हुआ शौचालय का निर्माण

आष्टा। विकास खण्ड के डोडी गांव में पिछले छह महीनों में स्वच्छता को लेकर अनूठा बदलाव आया। आज यहां के 299 घरों में शौचालय हैं, जिससे यह गांव खुले में सोच से मुक्ति की ओर अग्रसर है। छह महीने पहले…

बचगांव में समुदाय ने दिया नल जल योजना का बेहतरीन विकल्प

ग्राम पंचायत बचगांव जो नसरूल्लागंज तहसील से लगभग 25 किलोमीटर दूर पष्चिम दिषा में देवास जिले के सीमा में बसा है। इस ग्राम पंचायत में 3 गांव है बचगांव, बरखेडी और पिपल्या। इस पंचायत में 334 परिवार और जनसंख्या करीब…